-:: अनमोल मोती – 372 ::-

१. इमामे आज़म हज़रत अबू हनीफा रहमतुल्लाह तआला अलयहे ने अपने बेटेको वसिय्यत करते हुवे फरमाया के हररोज़ कुर्रान शरीफकी तिलावत करते रहो और उसका सवाब सरकारे दोआलम सल्लल्लाहो अलयहे वसल्लम, वालेदैन उस्ताद और तमाम ईमानवालो को बख्सते रहो.

२. हज़रत मुल्ला अली कारी शर्हे मिशकातमे फरमाते है के सैयद शेख अकबर मोहियुद्दीन बिन अरबीने फरमायाके सरकारे दोआलम सल्लल्लाहो अलयहे वसल्लमकी हदीश शरीफ मुझ तक पहोची के जो बंदा 70,000 बार “ला-इलाहा-इल्लल्लाह” पढ़ेगा उसकी मग़फ़ेरत हो जाएगी और जिसके इसाले सवाब के लिए पढ़ेगा उसकी भी मग़फ़ेरत हो जाएगी.
३. दैलमी-ऐ-मसनदुल फ़िरदोषमे हज़रत अबु दरद रदियल्लाहो तआला अन्होसे रिवायत है के सरकारे दोआलम सल्लल्लाहो अलयहे वसल्लम ने फरमाया के सूर-ऐ-फातेहा उस काममे काफी है जिस काममे कुरआन शरीफका दुसरा हिस्सा काफी न हो. मतलब के सूर-ऐ-फातेहा एक पलड़ेम और कुर्रान शरीफ दूसरे पलड़ेम रख्खा जाए तो सूर-ऐ-फातेहा की फ़ज़ीलत सात गुनी बढ़ जाए.
४. बयहकी शोएबुल इमानमे रिवायत है के सरकारे दोआलम सल्लल्लाहो अलयहे वसल्लम ने फरमाया के जब तुममेसे किसीकी मौत हो जाए तो उसे रोका ना जाए, जल्दीसे कब्रमे पहुचाया जाए और उसके सरके पास सूर-ऐ-बक़रह का पहला हिस्सा पढ़ा जाए और उसके पैर के पास सूर-ऐ-बक़रह का आखरी हिस्सा याने इससे मुराद “आमनर-रसूलो से काफेरीन” तक.
५. हज़रात अब होरैरह रदियल्लाहो तआला अन्होसे रिवायत है के सरकारे दोआलम सल्लल्लाहो अलयहे वसल्लम ने फरमाया के हर चीज़की एक चोटी होती है और कुर्रान शरीफकी चोटी सूर-ऐ-बक़रह है और उसमे एक आयात जो कुर्रान शरीफकी सरदार है वोह है “आयतुल-कुरशी”

Advertisements

About aelan

નામ : અબ્દુલ રશીદ મુનશી જન્મ તારીખ : ૧૫/૦૭/૧૯૫૪ જન્મ ભૂમિ : જુનાગઢ (Saurashtra) Gujarat-India અભ્યાસ : એમ.એ., બી.એડ. એલ.એલ.બી. વ્યવસાય : ઓફીસ અધ્યક્ષ સ્થળ : સ્વામી વિવેકાનંદ વિનય મંદિર, જુનાગઢ. મોબાઈલ નંબર : ૦૯૪૨૮3૭૮૬૬૪ ઈ-મેલ : arashidmunshi@gmail.com
This entry was posted in Uncategorized. Bookmark the permalink.

પ્રતિસાદ આપો

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / બદલો )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / બદલો )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / બદલો )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / બદલો )

Connecting to %s